Header

July 1, 2022

ग्रेटा थनबर्ग पर दिल्ली पुलिस ने दर्ज किया एफआईआर

नई दिल्ली: लगभग सवा दो महीने से नए कृषि कानूनों के विरोध में देश की राजधानी दिल्ली और उसकी सीमाओं पर किसानों का आंदोलन जारी है। इन कानूनों को जहां देश के अंदर कुछ लोगों से सराहा है तो किसानों के समर्थन में विपक्षी पार्टियों समेत कुछ अन्य हस्तियों ने इसको ख़ारिज करने की मांग की है। ऐसी ही मिली जुली प्रतिक्रियाएं भारत के बहार से भी आ रही है। एक तरफ अमेरिका जैसे देश ने केंद्र की मोदी सरकार के नेतृत्व में बने इन नए कृषि कानूनों की सराहना करते हुए भारतीय बाजार को मजबूत करने वाला बताया है तो दूसरी तरफ स्वीडन की रहने वाली पर्यावरण कार्यकर्त्ता ग्रेटा थनबर्ग ने किसानों के समर्थन में किए गए अपने ट्वीट में भारत की सत्तारूढ़ पार्टी पर सवाल खड़े किए हैं जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत सरकार पर किस तरह का दबाव बनाया जा सकता है इसके लिए उन्होंने एक दस्तावेज भी साझा किया जो भारत के खिलाफ प्रोपेगेंडा फ़ैलाने का हिस्सा है। भारत के खिलाफ भड़काऊ बयान देने के चलते ग्रेटा (Greta Thunberg) के खिलाफ धारा- 153 A, 120 B के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।
बता दें कि इससे पहले बुधवार को किसानों के मसले पर विदेशी हस्तियों के दखल पर विदेश मंत्रालय द्वारा एक बयान जारी कर कहा गया था कि यह देखकर दुःख हुआ कि कुछ संगठन और लोग अपना एजेंडा थोपने के लिए इस तरह का बयान जारी कर रहे हैं। जबकि किसी भी तरह का कमेंट करने से पहले तथ्यों और परिस्थितियों की जांच करनी जरूरी है। ऐसे में किसी व्यक्ति विशेष के द्वारा संवेदनशील पोस्ट करना जिम्मेदाराना भरा कदम नहीं है।

Chat on What's Up
Hello , Nmaste